Logo
ब्रेकिंग
हेरिटेज ट्रेन चलाने का खेल!....वेबसाइट पर नो रूम व लंबी वेटिंग, ट्रैक पर ट्रेन चल रही पूरी खाली एक्सेस पेमेंट का टेरर...भुगतान के बाद स्टेबल की प्रकिया, अब वसूली की तैयारी एक्सेस पेमेंट का टेरर....रेलवे में बांट दिया अतिरिक्त पेमेंट, रिटायर्ड कर्मचारी के खाते में भी आता र... रक्तदान का पुण्य काम....पूर्व अध्यक्ष स्व. उमरावमल पुरोहित की याद में 55 यूनिट रक्तदान रेलवे डीजल शेड के एएमएम के खिलाफ महिला कर्मचारियों ने लगाया उत्पीड़न का आरोप ट्रेनों में चोरों की मौज....एक ही दिन में पांच ट्रेनों का निशाना, गहनें व रुपए से भरे बैग चोरी आज का एमएलए...सैलाना विधायक कमलेश्वर डोडियार पर आखिर प्रकरण दर्ज गौरवपूर्ण इतिहास....एआईआरएफ के नाम भारत सरकार ने डाक टिकट किया जारी मिनी मैराथन के दो हीरो...एथलीट जूलियस चाको व इंदु तिवारी की सफलता को किया सलाम वार्षिकोत्सव एवं बासंती काव्य समागम... इंद्रधनुषी छटाओं से सजी रचनाओं से श्रोता हुए मंत्रमुग्ध

ट्रेन लेट है तो रियलिटी शो में करों ‘महांकाल’ दर्शन व निहारो ‘लोक’ की आभा

-रेलवे ने यात्रियों के लिए बनाई वर्जुअल रियालिटी शो की योजना।
-इंदौर व उज्जैन स्टेशनों पर ट्रेन के इंतजार में शो देखकर बिता सकेंगे समय।
न्यूज़ जंक्शन-18
रतलाम। सफर से पहले यदि आपकी ट्रेन लेट हुई या इसका इंतजार करना पड़ रहा है। तब मुसाफिर रेलवे स्टेशन पर रियलिटी शो में बाबा महांकाल के दर्शन सहित कॉरिडोर को देखकर अपना समय बिता सकेंगे।
रतलाम रेल मंडल में रेलवे ने इंदौर व उज्जैन स्टेशन पर वर्चुअल रियालिटी शो की योजना बनाई है। इसमें बैठकर यात्री महांकाल परिसर का लुक देख सकेंगे। इसी तरह ताज महल सहित देश के अन्य सुप्रसिद्ध स्थानों को भी शामिल किया जाएगा।


रेलवे अधिकारी के मुताबिक स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार करते वक्त यात्रियों को इस योजना का लाभ मिलेगा। इंदौर व उज्जैन स्टेशन पर वर्चुअल रियलिटी शो के लिए भोपाल की फर्म टेक एक्सआर इनोवेटिव प्रा ली को काम दिया गया है। दोनों स्टेशनों से रेलवे को 10 लाख रुपए साल की आय मिलेगी। इसके एवज में फर्म यात्रियों से 15 मिनिट प्रति शो के 150 रुपए शुल्क लेगी।

हर व्यक्ति के लिए अलग शो

योजना की जानकारी के मुताबिक हाल में बैठकर यात्री एक समय में अपना चयनित शो देख सकेंगे। इसके लिए आंखों पर लगाने का विशेष उपकरण मिलेगा। यदि किसी को महाकाल लोक के दर्शन करने या दूसरे को ताज महल की छटा निहारनी है। तब इन्हें अलग-अलग उपकरण मिलेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.