Logo
ब्रेकिंग
रेलवे मटेरियल विभाग की घूसखोरी...12 स्थानों पर तलाशी में मिले काली कमाई के सबूत, आरोपी आज होंगे न्या... इस मैसेज ने रेलवे जोन में फैलाई सनसनी...मटेरियल विभाग के तीन डिप्टी सीएमएम को किया सीबीआई ने ट्रेस डीआरएम की सहमति: डीजल शेड पहुंचने के लिए बनेगी डेढ़ किलोमीटर एप्रोच रोड, वर्क ऑर्डर जारी बड़ी जीत : क्रमिक भूख हड़ताल 98वें दिन खत्म, उज्जैन लॉबी के पद यथावत रहेंगे मैं और मेरी कविता फॉलोअप: चोर को पकड़ने वाले पुलिसकर्मी को मिलेगा एक लाख रुपए का इनाम जीआरपी चौकी से डाट की पुल मेनरोड सुबह 9 से शाम 5 बजे तक बंद रहेगा बिफोर स्ट्राइक एक्शन: 19 पोलिंग बूथ पर 91 प्रतिशत मत डले, अब सरकार को जगाएंगे पुरानी पेंशन की मांग को लेकर दिल्ली जंतर-मंतर पर हल्ला बोल, परिषद के सैकड़ों कर्मचारी शामिल हड़ताल का सीक्रेट बैलेट : रेलकर्मियों से कराया गोप (नी) य मतदान, एक पेटी में ताला दूसरी में लगा नकुचा

आरपीएफ ने सड़क पर बैठे सब्जी विक्रेताओं पर बगैर रसीद जुर्माना ठोका

-आरपीएफ की बार-बार की कार्रवाई से विक्रेताओं में आक्रोश।
-हर दो सब्जी विक्रेता के बीच 400 रुपए का वसूला जुर्माना।


न्यूजजंक्शन-18
रतलाम। डाट की पुल रेलवे एरिया में सब्जी विक्रेताओं को गुरुवार को आरपीएफ की बगैर रसीद की जुर्माना कार्रवाई का शिकार होना पड़ा। हर दो सब्जी विक्रेता के बीच 400 रुपए का जुर्माना वसूला गया। जबकि इसकी सब्जी विक्रेताओं को रसीद भी नही दी गई। हालांकि जुर्माना वसूली के बाद सब्जी विक्रेता को दोबारा सड़क किनारे सब्जी बेचने दी गई।
मालूम हो कि डाट की पुल एरिया के रेलवे कॉलोनी क्षेत्र में सड़क के आसपास लंबे समय से सब्जी दुकानें लगाई जा रही है। कई बार इन्हें हटाने की कार्रवाई भी हुई है।

रोजी-रोटी की वजह, प्रताड़ना से परेशानी

कार्रवाई को लेकर सब्जी विक्रेता खासे नाराज है। उनका कहना है कि वे सब्जी बेंचकर रोजी-रोटी का इंतजाम व परिवार का भरण पोषण करते है। दोपहर में आरपीएफ ने दो सब्जी वालों के बीच 400 रुपए जुर्माना वसूला। मामले में सब्जी विक्रेता महिला ललिता ने कहा कि उन्हें हर बार ऐसी ही परेशानी झेलनी पड़ती है। वह कैसे घर चलाए औऱ बच्चों को पाले। 400 रुपए जुर्माने की कोई रसीद भी नही दी।

 

गरीबों को परेशान करना गलत

(सुनील दुबे पूर्व मंडल मंत्री परेकप)

इस मामले में पश्चिम रेलवे कर्मचारी परिषद के पूर्व मंडल मंत्री सुनील दुबे ने आरपीएफ की कार्रवाई को गलत ठहराया। दुबे के मुताबिक गरीबों को परेशान किया जा रहा है। जबकि ज्यूस सहित अन्य स्ट्रीट व्यवसाय के लिए एरिया में मौजूद ठेले वालों से आरपीएफ को कोई आपत्ति नही रहती है।

पीआरओ ने नही उठाया फोन

इधर, इस मामले में रेलवे पीआरओ खेमराज मीणा का पक्ष जानने के लिए शासकीय फ़ोन नंबर 9752492006 पर दो बार कॉल किया। लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.